जयपुर के हवा महल का इतिहास एवं रहस्य | History of Hawa Mahal in Hindi | Palace of Winds |Bharat Mata

राजस्थान प्रांत की राजधानी जयपुर का हवामहल एक भव्य और शांति भवन है। हवा महल की अनूठी छटा। हर साल लाखों देशी और विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करती है। बिना नीम के इस विशाल महल का निर्माण रॉयल सिटी पैलेस के विस्तार के रूप में हुआ। 5 मंजिल वाली इस महल का निर्माण सन 1799 में महाराजा सवाई प्रतापसिंह ने करवाया था। महाराजा सवाई प्रताप सिंह जयपुर की स्थापना करने वाली महाराजा सवाई जयसिंह के पास महाराजा सवाई प्रतापसिंह भगवान श्री कृष्ण के अनन्य उपासक थे। इसीलिए महल को भगवान कृष्ण के मुकुट जैसा आकार दिया गया है। दूर से देखने। यह महल मधुमक्खी के छत्ते जैसा भी लगता है। हवा महल के वास्तुकार लालचंद उस्ताद ने तीसरे तल पर महाराजा सवाई प्रताप सिंह के आराध्य भगवान कृष्ण के दिव्य विचित्र मंदिर का निर्माण किया। महल की पहली मंजिल पर शरद मंदिर है। यहां राज महल के उत्सवों का आयोजन होता था। दूसरी मंजिल पर भव्य रतन मंदिर है। यहां शानदार क्लास वर्क के नजारे हैं। महल के चौथे तल पर प्रकाश मंदिर है तो पांचवी मंजिल पर हवा मंदिर हवा मंदिर से ही इस महल का नामकरण किया गया है। हवा महल यानी वह महल जहां हवा की बहुतायत हो और हवा भी ऐसी कि गर्मी के मौसम में भी शीतल और आनंद करने वाली जी हां, यही तो विशेषता है हवा महल की लाल और गुलाबी बलुआ पत्थरों से निर्मित।इस महल में कुल 953 जालीदार झरोखे हैं। झरोखों को जालीदार बनाने का उद्देश्य था कि राजघराने की महिलाएं पर्दा प्रथा का पालन करते हुए सड़क पर आयोजित होने वाले उत्सव और सामान्य गतिविधियों को देख सकें। जालीदार झरोखों से हवा भी खूब आती है। महल की खिड़कियों में रंगीन शीशे लगे हैं जिनसे शंकर सूर्य की किरणें इंद्रधनुषी छटा प्रस्तुत करती हैं। हवा महल की पहली और दूसरी मंजिल पर सुंदर आंगन है। राजपूतों की समृद्ध विरासत और परंपराओं की गवाही देता। यहां एक सुंदर पुरातत्व संग्रहालय भी है। 50 फुट नीचे हवा महल में राजपूताना और मुगल स्थापत्य कला का शानदार संगम है। इस महल की विशेषता यह भी है कि स्विस चिड़िया नहीं बल्कि 10th का निर्माण किया गया है। हवा महल की भव्यता और इसके मनोरम दृश्य। ब्लीडिंग स्टील फिल्म निर्माताओं को शूटिंग के लिए आकर्षित करते हैं। हवा महल को निहारने का सबसे उपयुक्त समय है। सुबह जब सूरज की किरणें महल को स्वर्णिम आभा प्रदान करती हैं। इस समय हवा महल का दृश्य अद्भुत होता है। हवा महल हमारी समृद्ध विरासत का अनूठा उदाहरण है। इसीलिए यह दुनिया भर के लोगों के लिए एक प्रमुख आकर्षण का केंद्र है। ऐसे हमारे चैनल Bharat Mata को सब्सक्राइब करें, जहां आपको आध्यात्मिक ज्ञान, साहित्य, कला, शौर्य और सनातन धर्म का अद्भुत संगम देखने को मिलता है।

See More: Bharat Mata